होली पर ऐसा करें, जीवन में छा जाए खुशियों का रंग

Indian News Desk:

एचआर ब्रेकिंग न्यूज (ब्यूरो)। पुराने गिले-शिकवे दूर करने, बेरंग जीवन में उमंग-उत्साह के रंग भरने, आपसी कटुता और प्रेम-सौहार्द को भुलाने के लिए होली का त्योहार जाना जाता है। हर साल फाल्गुन मास की पूर्णिमा को होली का त्योहार मनाया जाता है। उन्होंने इस बार भी होली की तैयारी कर ली होगी। यदि आप अपनी राशि के अनुसार रंगों का चुनाव करते हैं और इस दौरान कुछ ज्योतिषीय उपाय करते हैं तो आपको होली खेलने से कई गुना अधिक फल प्राप्त होगा।

भेड़ – मेष राशि वालों को लाल रंग के गुलाल का प्रयोग करना चाहिए। लाल रंग शक्ति, साहस और प्रेम का प्रतीक है। लाल फूलों से बने लाल रंग के गुलाल का इस्तेमाल करने से आपके प्रेम संबंध मजबूत होते हैं। होली खेलने के लिए घर से बाहर निकलने से पहले लाल टीका लगाकर निकलना चाहिए। बाद में होली खेलने वाले को लड्डू, चॉकलेट या टॉफी जैसी तली हुई मिठाइयां खिलाएं।

वृष- इस राशि के जातकों के लिए हल्के रंगों से होली खेलना अच्छा रहेगा, लेकिन ध्यान रहे कि ये रंग केमिकल फ्री होने चाहिए। फूलों से होली खेलना बेहतर होगा, इसके लिए आपको बाजार से कुछ फूल लाने होंगे और उसकी पंखुड़ियों को एक डलची में अलग कर लेना होगा। अब घर में कोई आपसे मिलने आए तो उसका फूल-माला से स्वागत करें। रंगों की होली के साथ-साथ होली पर मीठे और प्यार भरे बोलों से होली खेलें। बाहर के लोगों के साथ-साथ परिवार के सदस्यों के साथ भी होली खेलें।

मिथुन राशि – मिथुन राशि वालों के लिए हरे रंग से होली खेलना अच्छा है लेकिन केमिकल युक्त रंगों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इस राशि के लोगों को हर्बल रंगों का ही प्रयोग करना चाहिए। और हां, दोस्तों, रिश्तेदारों या पड़ोसियों के साथ होली खेलते समय आपको खेल भावना का ध्यान रखना चाहिए, पुराने गिले-शिकवे नहीं निकालने चाहिए और अनाड़ी नहीं दिखना चाहिए। एक दूसरे पर पानी के छींटे भी मारे जा सकते हैं। छोटे भाई-बहनों को प्यार से रंग लगाएं और आशीर्वाद दें। इस दिन आप अपने बॉस या बेस्ट फ्रेंड को रबर खिलाकर खुश कर सकते हैं।

READ  इन 3 ट्रांजैक्शन पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की रहती है पैनी नजर, तुरंत करता है एक्शन

यह भी पढ़ें: लड़कियां ऐसे लड़कों से प्यार करती हैं, उन्हें देखते ही पागल हो जाती हैं

कैंसर – इस राशि के जातकों को होली खेलनी चाहिए, लेकिन उन्हें इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि वे सभी लोगों के साथ प्रेम से पेश आएं। सभी से इतने प्यार से बात करो कि वे आपकी आवाज से अभिभूत हो जाएं। अपनी राशि के अनुसार बहुत हल्के रंगों का प्रयोग करें। जिस पानी से रंग बनाया जाता है वह सुगंधित होना चाहिए। इस सुगंधित जल का उपयोग करने से आपको सुख और सौभाग्य की प्राप्ति होगी। बेहतर होगा कि रासायनिक रंगों के बजाय पलाश के फूलों या उनसे बने रंगों से होली खेलें। इस दिन आप ठंडाई पीकर और खिलाकर मेहमानों को खुश कर सकते हैं.

शेर – सिंह राशि के जातक गीली होली के स्थान पर सूखी होली करें तो बेहतर रहेगा। अगर आप लाल और गुलाबी गुलाल से होली खेलते हैं तो यह आपके लिए बेहद शुभ रहेगा, होली के बाद आपके भाग्य के द्वार खुल जाएंगे। परिवार और आस-पड़ोस के बड़े-बुजुर्गों का आदरपूर्वक अभिवादन करें। और हां, इस होली अपने बॉस को विश करना न भूलें। होली का त्योहार एक-दूसरे से अपने रिश्ते को मजबूत करने और नशा न करने का है। अगर आपके दोस्त आपको फोन करते हैं या आपके घर आकर शराब पीने के लिए कहते हैं तो इस दिन शराब को हाथ न लगाएं। शराब पीने से आपकी होली बर्बाद हो जाएगी और इसका खामियाजा आपको भविष्य में भुगतना पड़ेगा।

कन्या- इस राशि के जातकों को इस होली अपने शत्रुओं से भी प्रेम करना चाहिए और किसी से कटुता नहीं रखनी चाहिए। अगर आप बीमार हैं या किसी तरह की एलर्जी से पीड़ित हैं तो बिना होली खेले माथे पर गुलाल का एक छोटा सा इंजेक्शन लगाकर प्रणाम करें।

READ  राशि के अनुसार लगाएं यह पेड़, चमकेगी किस्मत, जानिए पौधे लगाने के सही नियम

आप – तुला राशि के लोग परफ्यूम और परफ्यूम लगाकर दूसरों के साथ होली खेलते हैं, गुलाब जल से भी होली खेल सकते हैं। रंग खेलते समय शालीनता बनाए रखनी चाहिए। रंगों से खेलने के बाद चुपचाप बैठकर रसमलाई जैसी रसीली मिठाई खाएं, इससे रिश्तों में और रस आएगा।

यह भी जानें: बादली बादली लागे: गोरी नागौरी ने तोड़ा मंच, फैंस हुए पागल

वृश्चिक – इस राशि के जातक अगर इस होली किसी के साथ अपनी कड़वाहट खत्म कर प्यार और भाईचारे का रिश्ता बनाना चाहते हैं तो उन्हें इस बार उनके साथ लाल रंग के गुलाल से होली खेलनी चाहिए। अगर आप किसी खून के रिश्ते को नहीं मानते हैं और 36 का अंक है तो इस बार की होली सिर्फ उस विवाद को भुलाने के लिए आपको बस उनके साथ लाल रंग की होली खेलनी है। इस राशि के जातकों को यह भी याद रखना चाहिए कि वे किसी पर गंदा पानी न डालें और न ही उस पानी से खेलें। किसी के साथ ऐसा मजाक न करें जिससे किसी को नुकसान हो।

धनु- पीले रंग का प्रयोग करना चाहिए। अपने गुरु और गुरु तुल्य लोगों का सम्मान करें, होली पर उनके माथे पर पीले गुलाल लगाएं और आशीर्वाद के लिए उनके चरण स्पर्श करें। इतना ही नहीं, घर में दादा-दादी, नाना-नानी जैसे बड़ों के साथ होली खेलने से भी न हिचकिचाएं। हां, सुबह उठकर नहा-धोकर घर में रखे भगवान को गुलाल लगाएं और उनका आशीर्वाद लें, अगर रोज मंदिर जाने का रिवाज है तो वहां जाकर भगवान के साथ होली खेलें, लेकिन नहीं रंग का ख्याल रखना न भूलें.

READ  आपकी जेब में है 500 रुपये का नोट, जानिए RBI की अहम गाइडलाइंस

मकर – मकर राशि वालों को बैंगनी और पीले रंग के फूलों से होली खेलनी चाहिए। इस बार कुछ अलग अंदाज में होली मनाने की कोशिश करें। गीले रंगों के बजाय एक दिन पहले बाजार से बैंगनी और पीले रंग के फूल खरीद लें, उन्हें साफ करके टोकरी में रख दें और ऊपर से गीला कपड़ा रख दें ताकि फूल सूखे न रहें और ताजे रहें। होली के दिन फूलों की टोकरी को घर की छत पर, बालकनी में या बालकनी में किसी स्टूल पर रख दें और उसके सामने मुंह करके बैठ जाएं। अब हुरियारों के जत्थे के आपके घर के सामने आते ही उन पर फूल बरसाना उनके साथ-साथ आपको भी अच्छा लगेगा। यदि आप निचले सदन में हैं तो किसी चबूतरे या मेज पर खड़े होकर पुष्प वर्षा करें। फूलों की व्यवस्था न हो तो गुलाल से होली खेलें।

यह भी जानें: महिलाएं ऐसे पुरुषों के झांसे में आ जाती हैं, वे इस हरकत पर जोर देती हैं

कुंभ राशि – इस राशि के लोग अपने छोटों को अबीर गुलाल या सुगंध का तिलक लगाकर होली मना सकते हैं, हां ऐसा करते समय छोटों को उपहार देना न भूलें। जितना हो सके आपको पहले से ही उपहार खरीद लेना चाहिए क्योंकि उस दिन दो दुकानें बंद रहती हैं।

मीन राशि – इस राशि के जातकों को सभी गिले-शिकवे त्याग कर इस दिन जल होली खेलनी चाहिए। एक-दूसरे पर पानी डालकर सभी पुराने कड़वाहट को धो देना चाहिए। साथ ही इस दिन रंगे हुए कपड़ों को दोपहर के समय घर आने के बाद फेंक देना चाहिए और स्नान के बाद साफ कपड़े पहनने चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *